दंतेवाड़ा@दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय के अंदर इस कदर गाड़ियों की बेतरतीब सड़क किनारे पार्किंग होती है कि आपको गाड़ी लेकर भी मुख्यालय से निकलना मुश्किल होगा। जिसके कारण हादसे का भी खतरा बढ़ा रहता है।

दंतेवाड़ा बस स्टैंड पर पार्किंग का नज़ारा देखकर दंग रह जायेंगे आप एक तरफ बसे लाइन लगाये खड़ी होती है तो दूसरी तरफ हर जगह निजी वाहन खड़े होते हैं। मिश्रा मेडिकल स्टोर से लेकर दंतेश्वरी मंदिर तक तो निजी गाड़ी वालो ने हद ही कर दी है। इस जगह डिवाइडर के दोनों तरफ सड़क हमेशा जाम रहती है। डिवाइडर के एक तरफ दुकानों के आगे गाड़िया खड़ी होती है। तो दूसरी तरह पार्क से सटाकर बाइक,कारे जगह पार्किग कर दी जाती है। जिसे ट्रैफिक विभाग भी कंट्रोल नही करता है।

बेतरतीब खड़ी कार

बुधवार दोपहर इसी वजह से दंतेवाड़ा में एक बुजुर्ग वार्ड क्रमांक 01 निवासी राजू दर्जी की सड़क पार करते टैंकर की चपेट में आने से मौत हो गयी थी। अगर गाड़ियों की पार्किग सुव्यवस्थित होती तो वह हादसा नही होता। मगर दंतेवाड़ा जिले के हर चौक चौराहे में हादसे को निमंत्रण देने के लिए बेतरतीब पार्किंग नज़र आ जायेगी। जिसे ट्रैफिक पुलिस भी नजरअंदाज कर रही है। वही पालिका भी इस संबंध में कोई बैठक नही कर रही।

सलीम खाखा यातायात प्रभारी दंतेवाड़ा पार्किंग करने वालो को लगातार हटाया जा रहा है, जो नही समझ रहे उनपर चलानी कार्यवाही भी की जायेगी। जल्द दुरुस्त व्यस्था होगी।