दंतेवाड़ा@ दंतेवाड़ा जिले में पुलिस के हाथ आज एक अहम कामयाबी उस वक्त लगी जब नकली बंदूकों की दम पर असली नक्सली बनकर लूट की अंजाम को जगह जगह जिले के अलग अलग थानाक्षेत्रों में अंजाम देने वाले 6 आरोपियों को पुलिस ने लकड़ी की बनी नकली बंदूक, वर्दी, पिठ्ठू के साथ गिरफ्तार कर सारी लूट की घटनाओं से पर्दा उठाया। दरअसल रविवार को दंतेवाड़ा पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया को जानकारी दी कि कुआकोंडा थानाक्षेत्र में बीते 24 मई और 8 जून को वर्दीधारी नक्सलियों ने हल्बारास के सचिव सुखमन यादव और मोखपाल के सरपंच विनोद शोरी के घर से रात के अंधेरे में नक्सली बनकर पैसों की लूट की वारदात को अंजाम दिये थे. जिसकी एफआईआर कुआकोंडा थाने में दर्ज हुई थी.

◆इधर इस घटना की गंभीरता को देखते हुये दंतेवाड़ा एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने नक्सल आपरेशन के एडिशनल एसपी योगेश पटेल व अतरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र जायसवाल के नेतृत्व में एक स्पेशल जांच टीम बनवाई.पुलिस ने जब मामले की बारीकी से पड़ताल की तो 6 लोग पुलिस की गिरफ्त में चढ़ गये।

गिरफ्तार आरोपियों में भूषण मरकाम,लखन नाग,अंनत नाग,विशाल कुंजाम,दीपक ठाकुर,गौरीशंकर नाग ये सभी आरोपी कुआकोंडा थानाक्षेत्र के है। इनके पास से मोबाइल 1,2 बाइक, केमोफ्लाईज टीशर्ट 3 नग, नकली हथियार 04 नग और 2600 रुपये भी बरामद हुये।

घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने जानकारी दी कि ये सभी आरोपी सीरियल लूट की वारदात को लगातार एक ही ट्रिक से अंजाम दे रहे थे. साथ ही इन सभी की उम्र 18 वर्ष से लेकर 26 वर्ष तक है, जिन्होंने गूगल का सहारा लेकर और यूट्यूब वीडियो की मदद से पूरे क्राइम को अंजाम दे रहे थे. वही पुलिस ने आमजन से अपील की है कि नक्सलियों के नाम पर ठगी करने वाले ऐसे अपराधियों से डरने की जरूरत नही है साथ ही सम्बंधित थाने में घटना की सूचना दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

The Aware News
%d bloggers like this: